शिक्षामित्र केस को लेकर दिनाँक 10 अगस्त सचिवालय में हुई उच्च स्तरीय बैठक का आँखों देखा हाल - SARKARI RESULT | सरकारी रिजल्ट UP | SARKARI RESULT IN HINDI | SARKARI RESULT UP

12 August, 2017

शिक्षामित्र केस को लेकर दिनाँक 10 अगस्त सचिवालय में हुई उच्च स्तरीय बैठक का आँखों देखा हाल

शिक्षामित्र केस को लेकर दिनाँक 10 अगस्त सचिवालय में हुई उच्च स्तरीय बैठक का आँखों देखा हाल:-


दिनाँक 10 अगस्त सचिवालय में हुई उच्च स्तरीय बैठक का आँखों देखा हाल:-
श्रीमान अपर सचिव महोदय की अद्यक्षता में सचिवालय सभा कक्ष में 5:30pm पर बैठक शुरू हुई।बैठक को शुरू करते हुए अपर सचिव सर ने कहा कि अब तक शाशन स्तर पर शिक्षा मित्र के लिए तैयार मसौदे के क्रम में बिना टेट सहायक अध्यापक बनना सम्भव नही है।tet एग्जाम में बैठने के लिए मिनिमम मार्क्स  कैटेगरी वाइज 50%व्45%में छूट के लिए हम ncte के लिए पत्र लिखेंगे ।जिस पर दीनानाथ दीक्षित जी ने कहा कि सर सुप्रीम कोर्ट से हाल ही में एक ऑर्डर पास हुआ है जिसमे मिनिमम मार्क्स की बाध्यता खत्म कर दी है।सचिव महोदय ने सो बेटर कहते हुए नेक्स्ट टॉपिक पर बताया कि
● sm आज के btc पास युवाओं से 25%अंक पीछे है इसलिए हम शिक्षा मित्र को उसके अनुभव के क्रम में 2.5अंक प्रतिवर्ष या अधिकतम 25 अंक का भारांक देंगे जिससे आप मेरिट में फाइट कर सके।जिस पर रमेश मिश्रा जी व् साही जी ने 30 अंक की बात कही जिसे सचिव सर ने नही माना तब दीनानाथ जी ने राजस्थान के मैटर से अवगत कराते हुए बताया कि 29जुलाई 2016 में सुप्रीम कोर्ट 30 अंक के भारांक को सही ठहरा चूका है जिस पर सचिव सर ने कहा कि हम ऑर्डर निकलवा कर अध्ययन करेंगे अगर सही हुआ तो 30 भी दे सकते है लेकिन 25 पक्के आपके।
●टेट परिक्षा कब कराई जाय यह फैसला पूर्ण रूप से हमारे नेताओं पर छोड़ दिया जिस पर सर्ब्सम्मति से नवंबर के प्रथम सप्ताह में सहमति बन गयी।
●कौशल किशोर जी ने टेट पासिंग मार्क्स में rlaxasion की बात कही जिसे वहाँ उपस्तिथ एक महिला अधिकारी ये कहते हुए नकार दिया कि ये पूरे देश का मामला है ये सम्भव नही। विशेष आग्रह पर ncte को पत्र लिखने के लिए कहा लेकिन पैरवी न करने की बात भी कही।
●दीक्षित जी ने एक बार पुनः सूझ बूझ का परिचय देते हुए सचिव साहब से ncte के para4 में शिक्षा मित्र शब्द जुड़वाने के लिए आग्रह जिससे शिक्षा मित्र टेट मुक्त हो सके।जिस पर दीक्षित जी को अपने ही नेताओ का साथ नही मिला और सचिव साहब इस बात कोआसानी से टाल गये।
●अध्यादेश का नाम  मीटिंग में किसी संघ ने नही लिया।
●बड़े बड़े नेता पूर्ण रूप से शो पीस नजर आये।
●अवशेष की मांग एक महिला शिक्षा मित्र  जो कि अवशेष थी सायद(ज्योति वर्मा जी थी सायद) ने बहुत उच्च स्वर में उठाई।जिस पर सचिव सर ने कहा कि सभी लाभ 172000 शिक्षा मित्र को मिलेगा  आप चिंता न करें।
●हमने tet पास शिक्षा मित्र की समस्या से अवगत कराया जिस पर सचिव सर ने मुझसे हैरानी भरे शब्दों में पूछा क्या शिक्षा मित्र टेट पास भी है।तब मैंने कहा कि सर प्रदेश में लगभग 22000 शिक्षा मित्र टेट पास है ।हमारी बात को तुलई के  आदरणीय विधायक जी ने जोर देते हुए सचिव सर से कहा कि इन बच्चों का अहित नही होना चाहिए  व् हमारा मांग पत्र भी सचिव सर को दिया जिसे पढ़कर सचिव सर ने निदेशक महोदय को यह कहते हुए दिया कि इस पत्र पर संज्ञान लिया जाय। व् फिर  सचिव सर ने कहा कि अगर आपका टेट 31मार्च 2018 तक 5 वर्ष पूरे नही करता तो हम आपको शिक्षक बनने की अग्रिम शुभकामानाएं देते है।
●अंत में मानदेय पर सचिव सर ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि ये सब cm sir फैसला लेंगे।
●जितेंद्र साही ने एक बार फिर अपनी घटिया सोच का परिचय देते हुए 22000 शिक्षा मित्र के टेट को रद्द  करने की कुचाल चली जिसे हमने पूर्ण फ़ैल कर दिया सचिव सर भी हमारे साथ खड़े रहे इस मैटरपर।
●मीटिंग के समापन में अपर सचिव महोदय ने पूछा की आज की बैठक से आप सब सहमत है जिस पर सभी नेतागण सहमत दिखे। व् अपर सचिव सर ने सभी नेताओ को टेट पास करने की सुभकामनाये भी दी।
उपरोक्त एक एक तथ्य 100फीसद सत्य है।इससे इतर कोई नेता कुछ बताता है तो सिर्फ राजनीती है हमारे ऊपर।
मेरी तरफ से सभी शिक्षा मित्र साथियो से हाथ जोड़कर अपील है कि आप अपने संघठन के आह्वान पर धरना भी दे लेकिन दिन में 3से 4 घण्टे अवश्य पढे जिससे आप टेट पास कर 100फीसद एक शिक्षक बन कर समाज में अपनी योग्यता साबित कर सके।
                    सधन्यवाद
              हरभान सिंह राघव